800+ हिंदी मुहावरे और अर्थ उनके वाक्य प्रयोग

0
36

1. अंग अंग ढीला होना (अर्थ : थक जाना)
वाक्य प्रयोग : ज्यादा व्यायाम करने के कारण आज मेरा अंग-अंग ढीला हो गया है।

2. अंग अंग मुसकाना (अर्थ : बहुत प्रसन्न होना, बहुत खुश होना)
वाक्य प्रयोग : परीक्षा में अपने अच्छे अंक लाने पर अरुण का अंग अंग मुस्काने लगा।

3. अंगूठा दिखाना (अर्थ : मना करना, इनकार करना)
वाक्य प्रयोग : अनीता पर मुझे पूर्ण विश्वास था परंतु अंत समय पर उसने भी मुझे अंगूठा दिखा दिया।

4. अपना उल्लू सीधा करना (अर्थ : अपना मतलब निकालना)
वाक्य प्रयोग : कभी-कभी अपना उल्लू सीधा करने के लिए दुश्मन को भी दोस्त बनाना पड़ता है।

5. अपनी खिचड़ी अलग पकाना (अर्थ : दूसरों से अलग रहना)
वाक्य प्रयोग : चैतन्य दूसरे लड़कों से आजकल बात नहीं करता है और अपनी खिचड़ी अलग पकाता है।

6. अपने पांव आप कुल्हाड़ी मारना (अर्थ : स्वयं अपनी हानि करना)
वाक्य प्रयोग : इतने अच्छे नौकरी को छोड़ कर तुमने अपने पांव आप कुल्हाड़ी मार दी है।

7. अपने मुंह मियां मिट्ठू बनना (अर्थ : अपनी प्रशंसा या तारीफ स्वयं करना)
वाक्य प्रयोग : जो व्यक्ति अपने मुंह मियां मिठ्ठू बनते हैं उन से बड़ा मूर्ख दुनिया में कोई नहीं होता है।

8. आकाश के तारे तोड़ना (अर्थ : असंभव कार्य को पूरा करना)
वाक्य प्रयोग : मेहनत करने वाले आकाश से तारे तोड़ने की ताकत रखते हैं।

9. आटे दाल का भाव मालूम होना (अर्थ : कठिनाई का अनुभव होना)
वाक्य प्रयोग : एक बार जीवन में ईमानदारी से काम करना शुरू करके देखो तब तुम्हें आटे दाल का भाव मालूम होगा।

10. आसमान पर चढ़ाना (अर्थ : जरूरत से ज्यादा प्रशंसा या तारीफ करना)
वाक्य प्रयोग : तुमने अपने बेटे को आसमान पर चढ़ा रखा है इसलिए वह तुम लोगों की बात नहीं मानता है।

11. आसमान सिर पर उठाना (अर्थ : बहुत हल्ला या शोर मचाना)
वाक्य प्रयोग : बच्चे को तंग करने के कारण बच्चे ने आसमान सिर पर उठा लिया।

12. इधर-उधर की हांकना (अर्थ : इधर-उधर की बातें करना, गप्पे मारना)
वाक्य प्रयोग : इधर-उधर की हांकना बंद करो और अपने काम पर ध्यान दो।

13. ईट से ईट बजाना (अर्थ : सर्वनाश कर देना)
वाक्य प्रयोग : भगवान श्रीराम ने लंका की ईट से ईट बजा दी।

14. ईद का चांद होना (अर्थ : बहुत दिन बाद दिखना या नजर आना)
वाक्य प्रयोग : अरे राहुल तुम कहां ईद के चांद हो गए थे बहुत दिन से तुमने अपना दुकान क्यों नहीं खोला है?

15. उल्टी गंगा बहाना (अर्थ : विरुद्ध या विपरीत काम करना, उल्टा काम करना)
वाक्य प्रयोग : आज अपने दुश्मन के घर जाकर तुमने उलटी गंगा बहा दिया।

16. एड़ी चोटी का जोर लगाना (अर्थ : बहुत कोशिश या प्रयत्न करना)
वाक्य प्रयोग : परीक्षा में अव्वल अंक लाने के लिए रोहित को एड़ी चोटी काट जोर लगाना पड़ा।

17. कटे पर नमक छिड़कना (अर्थ : दुख को और बढ़ाना)
वाक्य प्रयोग : कुंभकरण की मृत्यु की खबर असुरराज रावण के लिए कटे पर नमक छिड़कने जैसा था।

18. कफन सिर पर बांधना (अर्थ : मरने के लिए तैयार होना, जान निछावर करने को तैयार रहना)
वाक्य प्रयोग : बॉर्डर पर हमारे वीर सैनिक हमेशा कफन सिर पर बांधे रहते हैं।

19. कान काटना (अर्थ : बहुत चालाक होना)
वाक्य प्रयोग : दोस्त अनिल को बच्चा मत समझना वह बड़ों बड़ों के कान काटता है।

20. कान पर जूं रेंगना (अर्थ : ध्यान ना देना, बात ना सुनना)
वाक्य प्रयोग : मैं तुम्हें इतना समझाता हूं परंतु तुम्हारे कान पर जूं तक नहीं रेंगती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here